रुपये-पैसे से जुड़ी इन 5 गलतफहमिया का जानिए क्या है सच

रुपये-पैसे से जुड़ी इन 5 गलतफहमिया का जानिए क्या है सच – दोस्तों आज मैं आपको बताऊंगा। रुपये-पैसे से जुड़ी इन 5 गलतफहमियाें का सच क्या है। यदि आप इस बारे में ज्यादा जानना चाहते हैं। तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। आपको इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई है।

इंश्योरेंस से मिली टैक्स-फ्री रकम मुख्य बेनिफिट है

दोस्तों अगर निवेश महंगाई की दर से कम रिटर्न देता है। तो इंडेक्सेशन उसे टैक्स फ्री ही कर देता है। इंश्योरेंस कंपनियां और डिस्ट्रीब्यूटर इंश्योरेंस पॉलिसियों की मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम को टैक्स फ्री होने का खूब ढिंढोरा तो पीते हैं। लेकिन यह कोई बड़ी बात नहीं है, उनके लिए, लेकिन मैं आपको बता दूं। अगर कोई भी निवेश जो महंगाई की दर से कम कमाता है। अगर इंडेक्सेशन के लिए पात्र है। तो वह ऐसे भी टैक्स फ्री बनाया जा सकता है। यह सच्चाई है।

कई क्रेडिट कार्ड होने से आप कर्ज में फंस सकते हैं

देखें दोस्तों क्रेडिट कार्ड की संख्या का आपके खर्च से कोई लेना देना नहीं है। लेकिन फिर भी कई लोगों को लगता है। कि अगर उनके पास एक से अधिक क्रेडिट कार्ड होंगे तो उनके खर्चे में बढ़ोतरी होगी। लेकिन यह सच नहीं है। यह सब पूरी तरीके से आपके ऊपर निर्भर करता है। सच तो यह है कि कई क्रेडिट कार्ड होने के फायदे भी हैं। इससे आपको ज्यादा क्रेडिट कार्ड लिमिट मिलती है। लेकिन इन सब का आप को संभाल कर इस्तेमाल करना चाहिए। ताकि आपको आगे कोई परेशानी ना आए।

Read More – लांग टर्म इन्वेस्टमेंट क्या होता है?

इंश्योरेंस की ऑनलाइन खरीद से आपको अच्छी डील मिलती है

दोस्तों मैं आपको बताना चाहता हूं। कि टर्म प्लान सस्ते होते हैं और इन्हें ऑनलाइन खरीदने पर खर्च काफी कम हो जाता है। लेकिन मेडिकल व्हीकल या ट्रैवल पॉलिसी खरीदने में आपको शायद। इस तरीके का कोई डिस्काउंट देखने को ना मिले। भले ही ऑनलाइन डिस्ट्रीब्यूटर दावा करें कि आप मोटर इंश्योरेंस ऑनलाइन खरीदने पर बड़ी बचत कर सकते हैं। लेकिन अक्सर देखा गया है। कि कम प्रीमियम की वजह इंश्योरेंस डिक्लेयर्ड वैल्यू में कटौती हो सकती है। अगर आप मेडिकल या कार इंश्योरेंस ऑनलाइन खरीद रहे हैं। तो आप इसे ध्यान पूर्वक चेक कर कर ही खरीदें।

सिप में आप पैसा नहीं गंवा सकते हैं

दोस्तों आपको बता दूं। सिर्फ इक्विटी में निवेश के जोखिम को कम करता है। ना कि उसे खत्म करता है। सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी सिर्फ बाजार की अस्थिरता से बचाता है। यह समय गुजरने के साथ-साथ खर्च की औसत कीमत पाने में मदद करता है। परंतु, यह नुकसान से बचने की गारंटी नहीं देता। सिर्फ इक्विटी में निवेश का जोखिम कम जरूर करना है। किंतु इसको खत्म करना नहीं है। सिर्फ अनुशासन पैदा करता है और यह अलग-अलग मार्केट साइकिल में निवेश रहने से आपको फायदा दिलाता है।

ऑनलाइन मेगा सेल में शानदार डिस्काउंट मिलता है

दोस्तों आपको मैं, यह बता दूं कि डिस्काउंट के नाम पर आप जो ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं। जितना डिस्काउंट आपको उस में बताया जाता है। उतना डिस्काउंट आपको मिलता नहीं है। क्योंकि इनके हिडन चार्जेस भी होते हैं। यह अपनी सेल को बढ़ाने के लिए। आपको डिस्काउंट का लालच देते हैं। ताकि डिस्काउंट देखते ही आप इनके प्रोडक्ट्स को खरीद सके। आप जब भी कोई प्रोडक्ट ले तो इन बातों को ध्यान रखिएगा।

निष्कर्ष

हम उम्मीद करते है हमारी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। अगर इस आर्टिकल से आपकी मदद हुई हों तो इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे। (धन्यवाद)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *