ई टेंडर क्या है ? ई टेंडर रजिस्ट्रेशन कैसे करें

ई टेंडर क्या है ? ई टेंडर रजिस्ट्रेशन कैसे करें – आज के समय में लोगों के जीवन में शिक्षा का एक एहम महत्व हैं। क्योंकि आज के समय में किसी भी प्रकार की नौकरी प्राप्त करने के लिए लोगों की योग्यता को जांचा जाता है ।और लोगों की योग्यता का पहचान हैं शिक्षा । इसीलिए आज के समय में एक अच्छी नौकरी पाने के लिए लगभग सभी लोग शिक्षित होना चाहते हैं। वर्तमान समय में हमारे भारत में काफी तरक्की हासिल की है। हमारे भारत देश में ऐसे बहुत सारे उद्योग स्थापित हुए हैं ,जो कि देश को कामयाब बनाने की कोशिश कर रहे हैं। और इन्हीं सब उद्योगों के लिए सरकार द्वारा टेंडर स्थापित किया गया है। जिसके अंतर्गत किन्हीं 1 कार्यकर्ताओं को टेंडर दिया जाता है। इसलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे हैं कि ई टेंडर कैसे भरा जाता है। तो आइए हम इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

ई टेंडर क्या है

किसी भी प्रकार के सरकारी या प्राइवेट कार्य को किसी दूसरे व्यक्ति के द्वारा एक फिक्स रेट पर करवाया जाता है उसे ही टेंडर कहा जाता है। और वह व्यक्ति उस कार्य की अच्छे से देखरेख करता है। किसी भी प्रकार के टेंडर के कार्य के लिए कोई भी साधारण व्यक्ति इसमें हिस्सा ले सकता है। बस इसके अंतर्गत उस व्यक्ति को इस से जुड़ी कुछ पेपर वर्क करनी होगी उसके पश्चात उस व्यक्ति को टेंडर से जुड़े कार्य करने की अनुमति प्राप्त हो जाती है।

Read More – जिओ फोन टीवी से कैसे कनेक्ट करें?

ई टेंडर रजिस्ट्रेशन में कौन कौन से डॉक्यूमेंट लगते हैं

ई-टेंडर रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपको ई-टेंडर रजिस्ट्रेशन की वेबसाइट पर जाना होता है। ई टेंडर रजिस्ट्रेशन करने के लिए कई जगहों पर शुल्क लिया जाता है ।यह शुल्क आपसे ऑनलाइन या चालान के माध्यम से लिया जाता है। ई- टेंडर रजिस्ट्रेशन वेबसाइट अलग-अलग विभागों और राज्यों के लिए अलग-अलग होता है। ई- टेंडर रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आप से जुड़ी कुछ जानकारी और डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है। तो आइए हम जानते हैं कि वह सारे डॉक्यूमेंट और जानकारी कौन-कौन से हैं:-

  1. ई टेंडर रजिस्ट्रेशन के लिए आपके पास आपका ईमेल आईडी होना बहुत ही जरूरी होता है।
  2. आपके पास आपकी कंपनी से जुड़े पूरी जानकारी होना अति आवश्यक है।
  3. आपके पास अपनी कंपनी का डिपार्टमेंट रजिस्ट्रेशन नंबर होना चाहिए।
  4. आपके पास आपकी कंपनी का प्रोफाइल और कंपनी से जुड़ी विभिन्न स्टाफ का होना जरूरी है।
  5. आपके पास एड्रेस का प्रमाण पत्र होना जरूरी है।
  6. आपके पास आपकी कंपनी का लेबर कोर्ट का रजिस्ट्रेशन नंबर होना जरूरी है।
  7. आपके पास GST या TIN नंबर होना चाहिए।

ई टेंडर रजिस्ट्रेशन कैसे करें

ई टेंडर रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको इसके वेबसाइट को ओपन करना होता है। ई -टेंडर रजिस्ट्रेशन का वेबसाइट अलग-अलग विभागों के लिए अलग-अलग होता है। इसलिए आपको जिस विभाग में रजिस्ट्रेशन करवाना है आपको उसी विभाग का इ-टेंडर रजिस्ट्रेशन वेबसाइट ओपन करना है। उसके बाद आपको वेबसाइट पर registration /enrollment /new user पर क्लिक करना है। उसके बाद इसके नीचे दी गई सारी जानकारी को स्टेप बाय स्टेप भरना है। तो आइए हम जानते हैं कि वह सारे स्टेप कौन-कौन से हैं:-

  1. ई टेंडर रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपको सबसे पहले इसमें अपना ईमेल एड्रेस भरना होता है। जिसमें आप अपना इनरोलमेंट करवाना चाहते हैं। ईमेल एड्रेस को आपको पूरी सावधानी के साथ भरना होगा क्योंकि आप इसे बाद में बदल नहीं सकते हैं।
  2. दूसरे स्टेप में आप को अपना पासवर्ड चुनना होता है। पासवर्ड चुनते समय याद रखें कि आपका पासवर्ड 8 अक्षर से 22 अक्षर के बीच में हो। पासवर्ड के अंतर्गत अंग्रेजी वर्णमाला के कैपिटल लेटर( कम से कम एक अक्षर), स्मॉल लेटर (कम से कम एक अक्षर), एक अंक (0 से 9 तक), और एक स्पेशल अक्षर( @, #, $, * , -, _ , मे से कोई एक) होना अनिवार्य है।
  3. तीसरे स्टेप के अंतर्गत आपको पासवर्ड दोबारा भरना होता है।
  4. चौथे स्टेप के अंतर्गत आपको अपनी कंपनी का नाम पूरी सावधानी के साथ ठीक-ठीक भरना होता है। यदि आपने कंपनी का नाम ठीक से नहीं भरा तो आपका पेमेंट अकाउंट में नहीं होगा।
  5. इसमें आपने जिस डिपार्टमेंट से रजिस्ट्रेशन करवाया है उसका नंबर भरना है।
  6. इसमें आपको अपनी कंपनी के पार्टनर का नाम डालना है यदि नहीं है तो खाली छोड़ देना है।
  7. उसके बाद आपको अपना सिटी का नाम, राज्य, पिन कोड और जीएसटी नंबर देना होगा।
  8. उसके बाद आपको अपनी और अपनी कंपनी की पूरी डिटेल भरनी है। और उस कंपनी में पोस्ट क्या है वह सिलेक्ट करके उस कंपनी का नाम भरना है।
  9. इसके बाद आपको नेक्स्ट स्टेप में उस व्यक्ति की सारी जानकारी भरनी है।
  10. अब आपको अपना फोन नंबर ,मोबाइल नंबर होता है।
  11. अब आपको यहां पर MSME नो है तो उसे भरे वरना आप को नॉट एप्लीकेबल भरना है। नॉट एप्लीकेबल करने से आपके नीचे के सारे ऑप्शन बंद हो जाएंगे और यदि आप MSME रजिस्ट्रेशन करते हैं तो आगे आप को

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *